जीवन परिचय

और पढ़ें..

क्रियाएँ  

सभी को देखें

सामाजिक कार्यक्रम एवं घटनाक्रम


गुरू जनों को नमन का दिन आ गया |

गुरू पूर्णिमा का दिन है, मंगलवार 16/7/2019

आज भारत, भारत है गुरूजनों की कृपा से, ब्रह्मांड को एकात्मभाव से देखने की दिव्यदृष्टि हमें मिली हैं, गुरुजनों के दिव्यभाव से,।हम सब पृथ्वी की हैं संतान, हमारे पिता आकाश हैं, जल, वायु और अग्नि हमें पुष्टि देते हैं, सम्पूर्ण सृष्टि में जड़ चेतन भी परमात्मा का स्वरूप है,पूरा ब्रह्माण्ड परमात्मा का ही दृश्य रूप है, जैसे जल की लहर, जल से भिन्न नहीं, वैसे जीवात्मा परमात्मा से भिन्न नहीं, यह बोध हमें गुरू कृपा से जगत हित के लिए प्राप्त हुआ है, इसको जन जन, जड़ चेतन के कल्याणार्थ व्यवहार में लाना है। यही है सच्ची  गुरु भक्ति, सेवा और ज्ञान हैं ।

हमारा वीडियो देखें

विचार